Advertisement

Fali S Nariman का 95 वर्ष की आयु में निधन, जानें कौन थे सुप्रीम कोर्ट के सीनियर एडवोकेट जिन्हें मिला था पद्म विभूषण

सुप्रीम कोर्ट के सीनियर एडवोकेट फली एस. नरीमन का या 95 की आयु में निधन हो गया है. अडिशनल सॉलिसिटर जनरल रह चुके इन दिग्गज के बारे जानें ये खास बातें..

Written by My Lord Team |Published : February 21, 2024 11:22 AM IST

सुप्रीम कोर्ट के सुविख्यात वकील फली एस नरीमन (Fali. S. Nariman) निधन हो गया. वरिष्ठ वकील (Senior Advocate) पिछले कई दिनों से अस्वस्थ चल रहे थे. 95 वर्षीय फली एस. नरीमन का निधन उनके दिल्ली स्थित आवास पर हुआ. फली एस. नरीमन को बेहतरीन वकील के तौर पर जाना जाता है. वह 1999 से 2005 तक राज्यसभा सांसद  (Rajyasabha MP)भी रहे. सीनियर वकील फली एस. नरीमन ने इंदिरा गांधी द्वारा इमरजेंसी (Emergency) लागू करने पर एडिशनल सॉलिसिटर जनरल (Additional Solicitor General) के पद से इस्तीफा दे दिया था. 

1972 में बने Additional Solicitor General

फली एस नरीमन एक पारसी फैमिली से ताल्‍लुक रखते थे. उन्‍होंने 1950 में बॉम्बे हाईकोर्ट से वकालत शुरू की थी. 1961 में वे सीनियर एडवोकेट नामित किए गए. इसके बाद उन्‍होंने करीब 70 साल तक वकालत की. बॉम्बे हाईकोर्ट के बाद नरीमन ने 1972 से भारत की सुप्रीम कोर्ट में प्रैक्टिस शुरू की. वे मई 1972 में भारत के एडिशनल सॉलिसिटर जनरल नियुक्त हुए थे. 1975 में इमरजेंसी लागू होने पर उन्होंने इस पद से इस्तीफा दे दिया था. 

2007 में पद्म विभूषण से हुए सम्मानित

अपने कानूनी करियर में नरीमन कई ऐतिहासिक मामलों का हिस्‍सा रहे हैं. वे सुप्रीम कोर्ट एडवोकेट्स-ऑन- रिकॉर्ड एसोसिएशन (Advocate On Record) मामले (जिसके कारण कॉलेजियम प्रणाली का जन्म हुआ), टीएमए पाई मामला (अनुच्छेद 30 के तहत अल्पसंख्यक अधिकारों के दायरे पर) और कई अन्य मामलों में पेश हुए. नरीमन को जनवरी 1991 में पद्म भूषण और 2007 में पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था.

Also Read

More News

प्रधानमंत्री ने जताया शोक

देश के वर्तमान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) सहित कई गणमान्य लोगों ने शोक जताया. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ट्वीट कर कहा, फली एस. नरीमन ने आमलोगों के न्याय के लिए अपनी पूरी जिंदगी समर्पित कर दी. 

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे (Mallikarjun Kharge) ने भी शोक जताया है. राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा, फली एस. नरीमन के निधन से देश के न्यायिक व्यवस्था को बड़ी क्षति पहुंची है. 

सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण (Prashant Bhusan) ने फली एस. नरीमन के निधन पर अपनी संवेदना व्यक्त की है. प्रशांत भूषण ने लिखा कि पांच दिन पहले ही उन्होंने मुझे एक पत्र भेजा था. मै जल्द ही उनसे मिलने वाला था. वह भारतीय संविधान और नागरिक अधिकारों की लड़ाई में एक स्तंभ के समान थे. उनके निधन से देश और कानून से जुड़े लोगों के लिए बड़ी क्षति हुई है.

Comments